Sunday, November 18, 2018

Google Adsense kya hai और यह कैसे काम करता है

आज हम जानेंगे कि Google Adsense kya hai. और Google Adsense kaam kaise krta hai. Google Adsense का नाम Online Marketing में बहुत ही प्रसिद्ध है. यह गूगल की प्रॉपर्टी है. गूगल ने लोगों तक अपने एड्स पहुचाने के लिए Google adsense का इस्तेमाल करती हैं. ये एक विज्ञापन कंपनी है. ये वेबसाइट 18 जून 2003 में लॉन्च हुई थी. गूगल एडसेंस सबसे बड़ी विज्ञापन कंपनी है. इसके रूल्स सख्त होते हैं. Wikipedia पर आपको पूरी जानकारी प्राप्त होगी. अगर आपको और भी ज्यादा जानना है तो आप विकिपीडिया पर जाकर पढ़ सकते हैं.
Google Adsense kya hai
Google Adsense kya hai



Google Adsense


आपने यूट्यूब पर जो एड्स देखे है वह गूगल एडसेंस के द्वारा ही दिखाये जाते हैं. यूट्यूब पर सिर्फ इसी के ही एड्स चलते हैं. अगर आप एक blogger है तो आपको यह जानना जरूरी है कि google adsense कैसे काम करता हैं?

google adsense अपना विज्ञापन वेबसाइट और यूट्यूब पर ही दिखाते हैं. हर एक blogger का यही सपना होता है कि उसका एक बड़ा blog हो. उस पर इसी कंपनी के विज्ञापन चले. लेकिन ये सभी लोग हासिल नहीं कर सकते हैं. आप को कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी. अगर आप ब्लॉग या यूट्यूब से पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको इस की जरूरत पड़ सकती हैं.

अगर आप google adsense के नियमों के हिसाब से अपना blog या यूट्यूब चैनल बनाये तो आपको google adsense approvel मिल जाएगा. चलिये हम डिटेल्स से जाने कि google adsense kya hai और kaise kaam karta hai




Google Adsense Kya hai - गूगल एडसेंस क्या है?


Adsense एक google का प्रोडक्ट है जो वेबसाइट या ब्लॉग पे text, image और video पर विज्ञापन दिखाता हैं. अधिकतर blogger इसी पर भरोसा करते हैं. अगर आपका Google adsense account approved है तो आप अपने blog पर विज्ञापन लगा सकते हैं. जो भी ट्रैफिक आपके blog पर आएगा. उसके हिसाब से आपको इनकम होगी. आप गूगल एडसेंस से दो तरीकों से कमा सकते है.

Clicks : आपके विज्ञापन पर जितने भी क्लिक होंगें.
Impression : आपके विज्ञापन को कितने बार देखा गया है उसके हिसाब आपको पैसे मिलते हैं. आमतौर पर हम यह मानकर चलते है कि 1000 view के $1 मिलते है.

अगर आपका google adsense account approved है तो आप अपने हिसाब से अपने blog पर ads लगा सकते है. आप अपने तरीके से विज्ञापन चुन सकते है. आप ads को अपने blog पर कहीं भी लगा सकते है. जब आपके blog पर रोज visitors आयंगे तो आपके ads पर impression और clicks मिलेंगे जिस से आपकी इनकम होगी. फिर आप अपने पैसे बैंक में डाल सकते है.

Google adsense से आप अपने यूट्यूब चैनल को थोड़ी मेहनत से ads लगा सकते है. अब तो यूट्यूब ने 4000 hrs वॉच टाइम 1000 सब्सक्राइबर होने चाहिए. Google adsense approvel सिर्फ उन्हीं को मिलता है जो उनके नियम के हिसाब से कंटेंट बनाते है.


Google Adsense Kaam Kaise krta hai- गूगल एडसेंस कैसे काम करता है?


Google Adsense में publisher और advertiser की अहम भूमिका होती है. Publisher जो ads को अपनी वेबसाइट पर दिखता है. Advertiser जो ads देता है. सबसे पहले advertiser ads बनाकर google में सबमिट कर देते है. इस में advertiser को पैसे देने पड़ते है. फिर google adsense की टीम ads को Publisher के कोड पर दिखाते है.

गूगल keyword के हिसाब से काम करता है. keyword वह होता है जो आप search करते है. गूगल वेबसाइट के keyword को देखता है और advertiser के दिए गए keyword को मैच करते है. अगर माने कि वेबसाइट के keyword laptop है तो गूगल ऐसे advertiser के keyword को देखता है जिस के keyword laptop से मैच कर रहा है.

Google adsense उस वेबसाइट के कंटेंट  को देखता है फिर उसी प्रकार के ads दिखाता है जिस से लोग ads पर अपना इंटरेस्ट दिखाए. अगर आप टेक की वेबसाइट पर ब्यूटी के ads शो हो तो बहुत ही कम क्लिक आएंगे. और अगर टेक वेबसाइट पर टेक के ही ads आए तो क्लिक ज्यादा आएंगे.

advertiser अपने पैसे क्यों खर्च करेगा. वह अपने पैसे तभी खर्च करेगा जब उसका फायदा हो. उदाहरण के लिए अगर वह 1000$ देता गूगल को देता है और वह अपने ऐप्प का प्रमोशन करवाता है. गूगल की मदद से उसके ऐप्प को डेली यूजर मिल जाएंगे. जिस से उसके ऐप्प में ads शो हो रही होगी. जिस से उसके adsense account में इनकम बढ़ेगी. इतनी इनकम तो हो ही जाएगी जिस से उसको फायदा मिले.

अब बात करते है कि publisher की. adsense publishers को पैसे देता है उनके ads को वेबसाइट पर लगाने से. अगर आप advertiser हो तो आपके किसके वेबसाइट पर अपने ads लगाना चहोगें जिस में ट्रैफिक ज्यादा आता है या उस में जिस में ट्रैफिक कम आता है.

गूगल ने invaild Traffic को रोकने के लिए अपने adsense के नियम सख्त है. क्योंकि पहले लोग ट्रिक का उपयोग करके गूगल को धोखा दे रहे थे. कई लोग इमेज के पास ads एकदम जोड़ देते थे. अगर कोई इमेज छू ले तो एक क्लिक मिल जाता था. लेकिन visitor को तो ये नहीं पता था तो वह back आ जाएगा. इसी कारण ads पर क्लिक होते थे लेकिन advertiser को फायदा नहीं नहीं हो रहा था.

Google ब्राउज़र से भी डाटा कलेक्ट करते है. ब्राउज़र हिस्ट्री को देखता है और उसी के हिसाब से ads दिखता है. आप सोच रहे होंगे कि विज़िटर हमारी एड्स पर क्लिक क्यों करेगा. उसको हमारी इनकम और ads से क्या लेना देना हैं. जब कोई हमारी साइट या ब्लॉग पर आता है तो गूगल उसके past के सारे डाटा को रीड कर लेता है और फिर उसके इंटरस्ट के आधार पर उसको एड्स दिखाता है. गूगल के पास सारा डेटाबेस सेव होता है जिस से उन्हें पता चलता है कि विज़िटर ने पिछले दिनों में क्या क्या सर्च किया और क्यों किया. गूगल आपकी पोस्ट के यूआरएल को इंडेक्स करता ह और पोस्ट के कंटेंट के अनुसार ही अड्स शो करते हैं. वह कीवर्ड को भी ध्यान देता हैं. आप भी अपने ब्लॉग या साइट पर गूगल के अड्स शो करके पैसा बना सकते हो.

Previous Post
Next Post

1 comment: